संवैधानिक प्रावधान
Constitutional Provision
राष्ट्रपति के आदेश 1960
President Order-1960
राजभाषा अधिनियम 1963
Official Language Act 1963
राजभाषा संकल्प 1968
Official Language Resolution1968
राजभाषा नियम 1976
Official Language Rule 1976
वार्षिक कार्यक्रम
Annual Programme
ऑनलाईन शब्दकोश
Online Dictionaries
नियम एवं संदर्भ पुस्तिका
Rule & Reference Book
टिप्पण मार्गदर्शिका
Noting Book
राकास समिति
OLIC Committee
राजभाषा परिवार
Rajbhasha Parivar
महत्वपूर्ण वेबसाइट
Important Websites

संस्थान अपनी शैक्षणिक गतिविधियों के अतिरिक्‍त भारत सरकार की राजभाषा नीतियों के अनुपालन के लिए प्रतिबद्ध है। इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए संस्थान में राजभाषा एकक की स्थापना की गई है। राजभाषा एकक भारत सरकार द्वारा समय-समय पर जारी राजभाषा नियमों से संबंधित आदेशों, निर्देशों का अनुपालन कर राजभाषा कार्यान्वयन को सुनिश्‍चित करता है।
संस्थान में राजभाषा संबंधी गतिविधियाँ निम्‍न हैं –

  1. नियमानुसार संस्थान में राजभाषा कार्यान्वयन समिति का गठन किया गया है और प्रत्येक तिमाही इसकी बैठक आयोजित की जाती है। बैठक का कार्यवृत्त तैयार कर उस पर अनुवर्ती कार्रवाई की जाती है।
  2. संस्थान में प्रयोगार्थ सभी फार्म द्विभाषी रूप में तैयार किए गए हैं।
  3. धारा 3(3) के अंतर्गत सभी पत्रों को द्विभाषी रूप में जारी किया जाता है।
  4. प्रत्येक तिमाही प्रगति रिपोर्ट मंत्रालय, नराकास एवं क्षेत्रीय कार्यालय को भेजी जाती है।
  5. संस्थान कर्मचारियों के लिए रोस्टर तैयार किया गया है और आवश्यकतानुसार कर्मचारियों को प्रशिक्षण हेतु नामांकित किया जाता है।
  6. कर्मचारियों को टंकण प्रशिक्षण संस्थान के प्रयोगशाला में दिया जाता है। प्रशिक्षण के उपरांत उन्हें नजदीकी केंद्र में परीक्षा दिलाने हेतु नामांकित किया जाता है।
  7. संस्थान द्वारा आयुक्‍त, आय कर विभाग की अध्यक्षता में गठित नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति की सदस्यता ली गई है और इसकी बैठकों में नियमित रूप से भाग लिया जाता है।
  8. संस्थान द्वारा द्विमासिक ई-समाचार का प्रकाशन किया जाता है। वार्षिक गृह पत्रिका का प्रकाशन बहुत ही शीघ्र किया जाएगा।
  9. सेवा एवं अन्य पंजियों में जहाँ भी संभव है वहाँ प्रविष्टियाँ हिन्दी में की जाती है।
  10. प्रतिदिन एक हिन्दी शब्द सीखें का पालन किया जाता है जिसे संस्थान की वेबसाइट में देखा जा सकता है।
  11. हिन्दी में प्राप्त सभी पत्रों का जवाब हिन्दी में दिया जाता है।
  12. द्विभाषी पत्राचार के प्रतिशत को बढ़ाने के लिए विभिन्न अनुभागों में मानक प्रारूप  तैयार किए गए हैं।  
  13. अधिकारियों एवं कर्मचारियों को हिन्दी में कार्य करने में हो रही झिझक को दूर करने हेतु प्रत्येक तिमाही हिन्दी कार्यशाला का आयोजन किया जाता है।
  14. संस्थान में प्रयुक्‍त सभी रबड़ स्टैंप, नामपट्ट, साइन बोर्ड एवं पत्र शीर्ष, विजिटिंग कार्ड द्विभाषी रूप में तैयार किया जाता है।
  15. संस्थान में हिन्दी संबंधी सभी प्रोत्साहन योजना लागू की गई है।
  16. संस्थान में हिन्दी पखवाड़ा और हिंदी दिवस का पालन किया जाता है।
  17. संस्थान में प्रयोग होने वाली नेमी टिप्पणियों एवं मानक पदबंधों को फाइलों में मुद्रित करवाया गया है और एक पुस्तिका के रूप में भी प्रकाशित किया गया।
  18. संस्थान के केंद्रीय पुस्तकालय द्वारा हिंदी की लोकप्रिय पुस्तकों की खरीद की जाती है।
  19. संस्थान में हिंदी के वातारण को अनुकूल बनाने के लिए तथा कर्मचारियों द्वारा अपने-अपने दैनिक कार्यों में हिंदी के प्रयोग को बढ़ाने हेतु सी-डैक द्वारा निर्मित नवीनतम लीप ऑफिस नामक एक सॉफ्टवेयर की खरीद की गई है।    
  20. हिन्दी में मौलिक पुस्तकें लिखने के लिए भारत सरकार, गृह मंत्रालय की इंदिरा गाँधी पुरस्कार योजना संस्थान में लागू की गई है।
  21. राजभाषा विभाग द्वारा जारी वार्षिक कार्यक्रम में निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए हरसंभव प्रयास किए जाते हैं।
  22. संस्थान की वेबसाइट संपूर्ण रूप से द्विभाषी में तैयार की गई है।
  23. संस्थान की वेबसाइट में जारी होने वाले सभी विज्ञापनों को द्विभाषी रूप में प्रकाशित किया जाता है।
  24. संस्थान की वार्षिक रिपोर्ट/ वार्षिक लेखा विवरण तथा लेखापरीक्षा रिपोर्ट को द्विभाषी रूप में तैयार किया जाता है।  
  25. संस्थान में प्रयुक्‍त होने वाले बैनरों को हिंदी और अंग्रेजी दोनों में छपवाएं जाते हैं।
  26. कार्यशाला में प्रशिक्षण देने हेतु एक नियम पुस्तिका तैयार की गई है।
  27. उच्‍च प्राधिकारियों एवं अधिकारियों द्वारा हिंदी में टिप्पण लिखने हेतु पॉकेट पुस्तिका तैयार की गई है।
  28. संस्थान की दूरभाष निर्देशिका द्विभाषी रूप में तैयार की गई है।
  29. संस्थान के छात्रों को उपाधियाँ द्विभाषी रूप में प्रदान की जाती है।
  30. फाइलों और रजिस्टर पर विषय हिंदी में लिखें जाते है।
  31. जहाँ भी संभव हो, रजिस्ट्रर में प्रविष्टियाँ हिंदी में की जाती है।
  32. सेवा पंजी में प्रविष्टियाँ द्विभाषी में की जाती है। मानक प्रकार के प्रारूपों को स्टैंप में तैयार कर प्रविष्टियाँ द्विभाषी में की जाती है।
  33. संस्थान के मुख्य द्वारा आज का विचार प्रकाशित किया जाता है।
  34. संस्थान छात्रों के लिए नियमित रूप से हिंदी प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाती है।
  35. तकनीकी विषय के छात्रों को हिंदी में रुचि पैदा करने हेतु हिंदी कक्षाओं का भी आयोजन किया जाता है।
  36. प्रत्येक तिमाही के अंतरात में सभी विभागों को निरीक्षण किया जाता है और तिमाही बैठक में इसकी चर्चा की जाती है।
  37. हिंदी में पत्राचार की संख्या वृद्धि करने के लिए अग्रेषण पत्र बनाए गए है।